Saturday, April 17, 2021
Check This Out
Home kahaniyan

kahaniyan

kahaniyan

Kahaniyan to sub jagah hai per hume unke bare main jankari nahi hai. Har insaan ki ek apni kahai hote hai. Har kahaniyan apne andar ek insaan ko, ek samay ko, bhoot sare yaadon ko, motivation ko, samete rehti hain.

Yahan hume koshish ki hai hum we kahaniyan aap tak pahuchaye. taki we kahaniyan aapke jevan main ek positive impact daal sakti hai.

Yadi appke bhi koi kahani hai jo aap logon se sanjha karna chahate hain to yahan sampark karen.

दयालु बालक टामस फिप की प्रेरणादायक कहानी हिंदी में

0
उस समय कृमिया और रूस के बीच युद्ध चल रहा था। टामस फिप नामक एक बालक ग्रेनेडियर दलके बैंडमें बाँसुरी बजाता था। उस समय...

गाँव को डूबने से बचाने वाले दयालु बालक की प्रेरणादायक कहानी

0
यूरोप में हालैंड देशका कुछ भाग समुद्र की सतह से नीचा होनेके कारण कभी-कभी समुद्र का जल आकर उस भागमें बसे गाँवों को डुबो...

संकटग्रस्त जहाज को बचाने वाले दयालु बालक की प्रेरणादायक कहानी

0
कई वर्ष हुए, जाड़ेके दिनों में समुद्र के किनारे एक गाँव में शोर कि 'एक जहाज थोड़ी दूरपर कीचड़में फँस गया है और हुआ...

रेलगाड़ी को बचाने में प्राण देने वाले बालक की प्रेरणादायक कहानी

0
एक आदमी रेलवे में नदी के ऊपर पुलके चौकीदारका काम करता था। उसका एक चौदह वर्ष का लड़का भी उसीके साथ रहता था। एक...

एक बड़े देश की रानी और एक अनाथ बच्चे की दयाभरी...

0
एक बड़े देशकी रानीको बच्चोंपर बड़ा प्रेम था । वह अनाथ बालकोंको अपने खर्चसे पालती-पोसती। उसने यह आदेश दे रखा था कि 'कोई भी...

गुजरात के दयालु मूलराज की 900 साल पुरानी कहानी हिंदी में

0
लगभग नौ सौ वर्ष पहलेकी बात है, राजा भीमदेव गुजरात में राज्य करते थे। उनके एक लड़का था। नाम था मूलराज । लड़का होनहार...
Buddha Flowers Margaritas Figurine  - AMDUMA / Pixabay

भगवान बुद्ध के बचपन की हंस की कहानी हिंदी में

0
बुद्ध भगवान का बचपन का नाम सिद्धार्थ कुमार है । महाराज शुद्धोधन उनके लिये एक अलग बहुत बड़ा बगीचा लगवा दिया था। उसी बगीचे में...
Abraham Lincoln Monument  - Stephen494 / Pixabay

अब्राहम लिंकन की दयालुता और शराबी की सच्ची कहानी हिंदी में

0
अब्राहम लिंकन की दयालुता एक दिन अब्राहम लिंकन अपने मित्रों के साथ शामको टहलकर घर लौट रहे । उन्होंने देखा कि सामनेसे एक घोड़ा आ...

शतमन्यु की प्रेरणादायक कहानी हिंदी में

0
सतयुग की बात है। एक बार देशमें दुर्भिक्ष पड़ा। वर्षा के अभावसे अन्न नहीं हुआ। पशुओंके लिये चारा नहीं रहा। दूसरे वर्षा भी वर्षा...