कन्या संक्रांति 2020: 16 सितंबर दिन बुधवार का कथा, दान, पूजा विधि एवं महत्व

0
Fantasy Mystic Imaginary Hope  - susan-lu4esm / Pixabay
susan-lu4esm / Pixabay

कन्या संक्रांति 16 सितंबर 2020 दिन बुधवार

एक पूरे वर्ष में 12 संक्रांति आती हैं इन्हीं में से एक कन्या संक्रांति भी है यह तब आती है जब सूर्य सिंह राशि से निकलकर कन्या राशि में प्रवेश करता है इस संक्रांति पर लोग स्नान दान और अपने पितरों की आत्मा की शांति के लिए पूजन आदि करते हैं इस दिन पवित्र जलाशयों में स्नान करना शुभ होता है इस दिन कई राज्यों में भगवान विश्वकर्मा की पूजा होती है कन्या संक्रांति के दिन लोग भगवान विश्वकर्मा की पूजा इसलिए भी करते हैं क्योंकि विश्वकर्मा जी के आशीर्वाद से लोगों में कार्यकुशलता बढ़ती है और भगवान विश्वकर्मा अपने गुण आशीर्वाद के रूप में भक्तों को प्रदान करते हैं

Take A Look

कन्या संक्रांति 2020 पूजा विधि

कन्या संक्रांति के दिन सुबह उठकर सूर्योदय से पहले नहाने के पानी में तिल डालकर स्नान किए जाते हैं कुछ लोग इस दिन व्रत भी रखते हैं और दान करते हैं जिससे उन्हें पुण्य लाभ की प्राप्ति होती है इस दिन ओम सूर्याय नमः मंत्र का जाप किया जाता है और सूर्य देवता को जल चढ़ाया जाता है इस दिन सूर्य देवता उत्तरायण हो जाते हैं इस दिन गंगा एवं अन्य पवित्र नदियों में स्नान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here